हल्द्वानी: कोरोना टेस्ट और एम्बुलेंस के दाम हुए फिक्स, ज्यादा पैसे वसूलने पर कार्यवाही तय

गौरतलब है कि कोरोना वायरस की जांच के लिए ज्यादा पैसे वसूलने पर हल्द्वानी की एक निजी लैब के विरुद्ध केस दर्ज किया गया है। साथ ही मरीजों को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के लिए एम्बुलेंस द्वारा भी कई जगह भरी कीमत वसूली जा रही है। इन्हीं सब चीज़ों पर नकेल कसने के उद्देश्य से अब रेट तय कर दिए गए हैं। आरटी पीसीआर टेस्ट के रेट भी प्रशासन द्वारा तय कर दिए हैं।

एंबुलेंस संचालकों द्वारा मरीजों के तीमारदारों से ज्यादा पैसा वसूलने की लगातार शिकायत मिल रही थी जिसके बाद जिला अधिकारी धीराज सिंह के निर्देश पर अब हल्द्वानी में एंबुलेंस के रेट तय किए गए हैं। इन तय की गई नई कीमतें के हिसाब से बेसिक एंबुलेंस ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ न्यूनतम किराया 15 किलोमीटर की दूरी तक ₹800 होगा

एयर कंडीशनर बेसिक एंबुलेंस ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ 15 किलोमीटर के दायरे में न्यूनतम किराया ₹1200 होगा।

यह भी पढ़ें: नैनीताल: कोरोना गाइडलाइन को ताक पर रखने वाले शराब संचालकों की दुकानें सील

आईसीयू कार्डियक एम्बुलेंस का 15 किलोमीटर की दूरी तक ₹3000 केवल वाहन चालक के साथ और ₹4000 नर्सिंग स्टाफ के साथ और ₹6000 डॉक्टर के साथ तय किया गया है।

नॉन एसी एंबुलेंस 1 घंटे पश्चात प्रति घंटा प्रतीक्षा भाड़ा ₹200 तय किया गया है जबकि एसी एंबुलेंस के लिए ढाई ₹100 प्रति घंटा भाड़ा तय किया गया है।

15 किलोमीटर से अधिक दूरी तयय करने के लिए नॉन एसी बेसिक एंबुलेंस ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ ₹18 प्रति किलोमीटर के दर से भाड़ा देना होगा वही एसी एंबुलेंस को ₹20 प्रति किलोमीटर के हिसाब से भाड़ा देना होगा।

इसके अतिरिक्त कोविड-19 संक्रमित पेशेंट के परिवहन के लिए चालक को पीपीई किट मास्क व सैनिटाइजर पेशेंट या अटेंडेंट द्वारा उपलब्ध कराया जाएगा।

डीएम ने नैनीताल जिले में सभी एंबुलेंस चालक को उपरोक्त दिए गए निर्देशों का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए हैं।प्रशासन द्वारा तय किए गए रेट न मानने की हालत में आपदा प्रबंधन और कोविड-19 एक्ट के सख्त कार्रवाई की जाएगी।